Yo Diary

28 लाख महिलाओं को एलपीजी कनेक्शन मुहैया कराएंगेः रघुवर

दुमका, जेएनएनसीएम रघुवर दास ने आज दुमका में पीएम एलपीजी पंचायत की शुरुआत की। यह विकास युक्त, प्रदूषण मुक्त भारत की ओर ये एक अहम कदम है। इस मौके पर सीएम ने प्रधानमंत्री एलपीजी पंचायत पुस्तिका का विमोचन किया। उनके मुताबिक, एलपीजी गैस के घर में आने से झारखंड की हमारी गरीब बहनों की जिंदगी में एक बेहतरीन बदलाव आ रहा है। अब उन्हें धुएं में जिंदगी नहीं बितानी पड़ेगी। दुमका में शिकारीपाड़ा के बालीजोर गांव में प्रधानमंत्री एलपीजी पंचायत के तहत हमारी ग्रामीण बहनों को एलपीजी कनेक्शन का वितरण किया गया। सीएम ने कहा कि गांवों का समग्र विकास सरकार की प्राथमिकता है।

रघुवर ने कहा कि हमारी सरकार का उद्देश्य है कि राज्य की महिलाएं स्वस्थ, आत्मनिर्भर, जागरूक और सशक्त बनें। पीएम मोदी की सोच है कि देश का गांव, गरीब, किसान, महिलाओं की उन्नति के बगैर हम आर्थिक सुपरपावर नहीं बन सकते, इसलिए केंद्र सरकार ने जितनी भी योजनाएं शुरू की वो गरीबों को ध्यान में रखकर की। दुमका में सीएम रघुवर ने कहा कि हमने तय किया है कि झारखंड के हर गरीब के घर रसोई गैस पहुंचे। 2018 तक राज्य की 28 लाख महिलाओं को एलपीजी कनेक्शन मुहैया कराया जाएगा।

झारखंड देश का पहला राज्य है, जो गैस सिलेंडर के साथ चूल्हा देता है। मार्च 2018 तक 18 लाख कनेक्शन दिए जाएंगे। झारखंड देश का सबसे समृद्ध राज्य है, जिस उद्देश्य से वाजपेयी जी ने राज्य की स्थापना की थी वो इन चौदह साल में धूमिल हो गई थी।

केंद्र सरकार की महत्वाकांक्षी प्रधानमंत्री उज्ज्वला गैस योजना को वाजिब लाभुकों तक पहुंचाने और इसके महती उद्देश्यों को पूरा करने के लिए झारखंड पहला राज्य है, आज सीएम ने पीएम एलपीजी पंचायत की शुरुआत की। दुमका के शिकारीपाड़ा प्रखंड के मुड़ायाम पंचायत का बालीजोर गांव को उपायुक्त मुकेश कुमार ने गोद लिया है।

दुमका में पीएम एलपीजी पंचायत के सफल क्रियान्वयन के लिए प्रशासनिक स्तर पर मुकम्मल तैयारी की गई थी। जिले के कुल 206 पंचायतों में से कई को एक-दूसरे के साथ टैग कर 137 एलपीजी पंचायतों का गठन किया गया है, ताकि लाभुकों को ज्यादा परेशानी न हो। पंचायतों में एक नोडल पदाधिकारी समेत बतौर रिसोर्स पर्सन मुखिया, जनसेवक, स्वयंसेवक को शामिल करते हुए इनका मोबाइल नंबर जारी किया गया है।