Yo Diary

जसोदा बेन ने कहा, आगे भी पीएम पद सुशोभित करें मोदी

गोड्डा, जेएनएन।प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की पत्नी जसोदा बेन शनिवार की शाम गोड्डा पहुंचीं। वे तेली अधिकार महारैली में शामिल होने के लिए यहां आई हैं। स्थानीय अतिथि भवन में ठहरी हुई हैं। रविवार की शाम उन्होंने जागरण संवाददाता अविनाश कुमार सिंह से विभिन्न मुद्दों पर बातचीत की। स्पष्ट रूप से हिंदी नहीं बोल पाने की वजह से उनकी निजी सहायक ओम प्रकाश नरवरिया ने उनकी बातों को गुजराती से हिंदी में अनुवाद कर बताया। हालांकि, इस दौरान उन्होंने पारिवारिक मुद्दों पर बात करने से स्पष्ट रूप से इन्कार कर दिया। पेश है बातचीत के कुछ अंश :

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की पत्नी जसोदा बेन शनिवार की शाम गोड्डा पहुंचीं। वे तेली अधिकार महारैली मे

आज बेटा-बेटी में कोई फर्क नहीं है। जो काम बेटा कर सकता है वह बेटियां भी कर सकती हैं। बेटों के साथ बेटियां भी हर क्षेत्र में कदमताल कर रही हैं। बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ के नारे को जन-जन तक पहुंचाना है, ताकि बेटियों को भी एक सुंदर भविष्य मिल सके। इसी मुहिम को आगे बढ़ाने के लिए मैं विभिन्न राज्यों का दौरा कर रही हूं।

केंद्र सरकार द्वारा लिए गए फैसलों को आप किस रूप में देखती हैं?

केंद्र सरकार ने जो भी फैसले लिए हैं उसमें राष्ट्र हित या लोक हित छिपा है। चाहे वह नोटबंदी का फैसला हो या एकल कर प्रणाली गुड्स एंड सर्विस टैक्स (जीएसटी) का हो। मैं इन निर्णयों से खुश हूं। इन निर्णयों के बेहतर परिणाम भविष्य में दिखेंगे। इससे हमारा देश और समृद्ध होगा और देशवासी सुखी होंगे।

केंद्र सरकार ने जो भी फैसले लिए हैं उसमें राष्ट्र हित या लोक हित छिपा है। चाहे वह नोटबंदी का फैसला ह

जी हां। उनके नेतृत्व में देश प्रगति के रास्ते पर निरंतर आगे बढ़ रहा है। देश की उन्नति व प्रगति के लिए मैं चाहूंगी कि वह प्रधानमंत्री के पद को आगे भी सुशोभित करें।

केंद्र सरकार ने जो भी फैसले लिए हैं उसमें राष्ट्र हित या लोक हित छिपा है। चाहे वह नोटबंदी का फैसला ह

मैंने अब तक कई राज्यों का दौरा किया है। पिछले दिनों मध्य प्रदेश, राजस्थान, बिहार भी गई थी, लेकिन पश्चिम बंगाल व झारखंड आने का यह मेरा पहला मौका है। यहां के लोगों के स्वागत से अभिभूत हूं। यहां से लौटने के बाद कोलकाता में भी मेरा एक कार्यक्रम है।

एक बेटी करती तीन कुल का कल्याणः जशोदा बेन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की पत्नी जशोदा बेन ने गोड्डा में कहा कि जो संघर्ष करता है, उसे अधिकार मिलता है। संघर्ष बहुत बड़ी बात है। संघर्ष से ही अधिकार को पाया जा सकता है। वह रविवार को गोड्डा के गांधी मैदान में तेली अधिकार महारैली को संबोधित कर रही थीं। उन्होंने तेली समाज को आह्वान करते हुए कहा कि वे अधिकार के लिए संघर्ष करे। जशोदा बेन ने कहा कि एक बेटी तीन कुल का कल्याण कर सकती है। इसलिए बेटी को पढ़ाओ और लिखाओ ताकि वह अपने मायके के साथ ससुराल व उससे जुड़ने वाले परिवारों का कल्याण कर सके। महिला आगे बढ़ती है, तो सब आगे बढ़ते हैं। उन्होंने महारैली में उपस्थिति महिलाओं व समाज के लोगों से बेटियों को पढ़ाने व उन्हें उनका अधिकार देने की अपील की। इससे पूर्व झारखंड प्रदेश तेली समाज के प्रदेश अध्यक्ष अरुण साह ने लोगों को संबोधित किया। साह ने कहा कि अधिकार बिना मांगे नहीं मिलता। कार्यक्रम के बारे में सोशल साइट पर यह अफवाह फैलाई गई कि इस कार्यक्रम में जशोदा बेन जी नहीं आ रही हैं। हमारे संघ व समाज के लोगों को जगह-जगह रोका गया। कहा कि हमें आपसी बातों को छ