Yo Diary

तेज आवाज के साथ कांपी धरती, घरों में पड़ने लगीं दरारें

जागरण संवाददाता, मुगमा (धनबाद)।स्टेशन रोड मुगमा स्थित लतीफ बाबू तालाब के समीप बसे इंदिरा नगर में रविवार की सुबह तेज आवाज के साथ धरती कांपने लगी। इसके बाद करीब दर्जनों घरों में दरार पड़ गई। इससे वहां रहने वाले लोगों में हड़कंप मच गया। लोग अपने-अपने घरों से सामान लेकर इधर-उधर भागने लगे। कई घरों में दरारें पड़ गईं। वहां रहने वाले लोगों में दहशत का माहौल बना हुआ है।

जानें, कैसे हुई घटना:

संजय शर्मा, मनोज यादव, उत्तम सिंह, रामस्वरूप साव, कन्हाई चटर्जी सहित अन्य लोगों ने बताया कि सुबह अचानक तेज आवाज सुनाई दी। इसके बाद घरों में कंपन होने लगा। हमलोग जब तक कुछ समझ पाते लोग इधर-उधर भागने लगे। कुछ ही देर बाद कंपन बंद हो गया। कंपन शांत होते ही लोगों ने राहत की सांस ली, लेकिन कुछ ही क्षणों में देखा गया कि कई घरों में दरारें पड़ गई।

अवैध खनन से पड़ी घरों में दरारें :

इंदिरानगर बस्ती के आसपास क्षेत्रों में काफी समय से अवैध उत्खनन धड़ल्ले से किया जा चुका है। इसी कारण इस प्रकार की घटना हुई। आज भी उसके अगल-बगल क्षेत्रों में कोयले का अवैध उत्खनन कार्य जारी है। कुछ माह पूर्व से ही आस पास के अवैध मुहानों से जहरीला धुआं निकल रहा है। इसके कारण लोगों को परेशानी हो रही है। लोगों का मानना है कि पूर्व में हुए अवैध उत्खनन के कारण बस्ती के नीचे की जमीन खाली हो गई है। जिस कारण जमीन के अंदर ही भू-धंसान हुआ। आवाज व कंपन के कारण घरों में दरारें पड़ गई।

ईसीएल व स्थानीय प्रशासन दोनों बेखबर:

क्षेत्र में लगातार हो रहे भू-धंसान के बाद भी न तो ईसीएल प्रबंधन और न ही स्थानीय प्रशासन सतर्क है। इसके पूर्व शिवडंगाल में भू धंसान की घटना हो चुकी है, लेकिन ईसीएल केवल खानापूर्ति करते हुए ऊपर से भराई कर दी है। जमीन के अंदर पूरा भू-भाग खोखला है। कभी भी पूरा क्षेत्र हो सकता जमींदोज की घटना।

ईसीएल व स्थानीय प्रशासन दोनों बेखबर: