Yo Diary

झारखंड : तीर-धनुष से लैस युवक कर रहे थे चौकसी, ग्राम सभा जिंदाबाद के लगे नारे

खूंटी रविवार काे अड़की प्रखंड के छह गांवाें में पत्थलगड़ी की गयी. इस माैके पर आयाेजित कार्यक्रम में बड़ी संख्या में लाेगाें ने हिस्सा लिया. इसमें महिलाआें की संख्या भी काफी थी. पहले अतिथियों का पारंपरिक नृत्य से स्वागत हुआ, फिर विधिवत पत्थलगड़ी की गयी. इस माैके पर ग्राम सभा जिंदाबाद, रूढ़ी प्रथा जिंदाबाद, भारत का संविधान नहीं माननेवाले देशद्रोही, जल-जंगल-जमीन हमारा है, आदि के नारे भी लगे.

परंपरागत और आधुनिक तीर-धनुष से लैस थे लोग

कार्यक्रम के दौरान बंदगांव व मुरहू से कोचांग जानेवाले पथ पर सीमान क्षेत्र में तीर-धनुष से लैस युवक चौकसी कर रहे थे. हर किसी को जांच के बाद ही काेचांग जाने की अनुमति दी जा रही थी. महिलाएं भी पारंपरिक हथियाराें से लैस थी. कुछ युवकों के पास आधुनिक तीर-धनुष था.

अनुशासित था कार्यक्रम

गांवों में पत्थलगड़ी कार्यक्रम बेहद अनुशासित था. पत्रकारों को भी कार्यक्रम में ग्रामीणों का पूरा सहयोग मिला. कहीं लग ही नहीं लगा कि इन इलाकाें में तनाव की काेई स्थिति है. सभी काे ग्रामसभा के अधिकार बताये गये. ग्रामसभा के लोगों ने कहा कि हम सभी का हार्दिक स्वागत गांव में करते हैं. पर वे ग्रामसभा की अनुमति लेकर आये. कार्यक्रम में लोगों का कहना था कि सरकार जबरन विकास योजनाएं जनता पर थोपती है. हम विकास चाहते हैं, पर वही विकास, जो ग्राम सभा की अनुमति के बाद पास हो.