Yo Diary

झारखंड : प्रज्ञा केंद्रों में शुरू होगा टेली मेडिसिन कंसल्टेशन, 10 सीटों का बीपीओ भी : मुख्यमंत्री

रांची रांची में एचइसी के जवाहर लाल नेहरू स्टेडियम में रविवार को आइटी कानक्लेव-2018 का मुख्यमंत्री रघुवर दास ने उद्घाटन किया. उन्होंने कहा : सरकार सभी प्रज्ञा केंद्रों (सीएससी) में टेली मेडिसिन कंसल्टेशन सुविधा बहाल करेगी. सभी केंद्रों में 10 सीटों का बिजनेस प्रोसेस आउटसोर्सिंग (बीपीओ) भी खोला जायेगा, जो महिलाओं के लिए आरक्षित होगा. प्रज्ञा केंद्रों में साल भर में आठ बार बीपीएल परिवार को मुफ्त चिकित्सकीय परामर्श और दवाइयां दी जायेंगी. डिजिटल क्रांति की शुरुआत : मुख्यमंत्री ने कहा : 2022 तक झारखंड के सभी लोगों को डिजिटल साक्षर बनाया जायेगा. सभी गांवों तक इंटरनेट की सुविधाएं पहुंचायी जायेंगी.

झारखंड को आइटी हब बनाया जायेगा. राज्य में डिजिटल क्रांति की शुरुआत हो गयी है. उन्होंने कहा : गुड गवर्नेंस के लिए आइटी का अधिकतम उपयोग जरूरी है. कृषि, स्वास्थ्य और अन्य सभी क्षेत्रों में आइटी का प्रवेश कराया जायेगा. नयी तकनीक नहीं अपनाने से पिछड़ जायेंगे : मुख्यमंत्री ने कहा : सरकार ने इनोवेशन के लिए युवाओं को प्रोत्साहित करना शुरू किया है. नयी विचारधारा के साथ आनेवाले युवा उद्यमियों को सरकार स्टार्ट अप के लिए पैसे भी मुहैया करायेगी. देश की 65 फीसदी आबादी युवा है. बदलते समय में सर्विस सेक्टर की भूमिका अहम है. नयी तकनीक नहीं अपनाने से हम पिछड़ जायेंगे. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के न्यू इंडिया के सपनों को पूरा करने और न्यू झारखंड के निर्माण में सभी को योगदान देना होगा.

14 वर्ष तक राजनीतिक अस्थिरता से नहीं हुआ विकास : मुख्यमंत्री ने कहा : राज्य में 14 वर्ष राजनीतिक अस्थिरता रही. इससे विकास प्रभावित हुआ. बैड गवर्नेंस और भ्रष्टाचार से राज्य में सरकारी योजनाएं प्रभावित हुईं. बिचौलिए हर तरफ हावी रहे. अब आइटी के जरिये गुड गवर्नेंस और पारदर्शी सरकार देने की कोशिश की जा रही है. तीन वर्ष में आइटी के क्षेत्र में कई परिवर्तन हुए. अब 14 वर्ष के गैप को दूर करेंगे. टीम झारखंड कर रही है बेहतर काम मुख्यमंत्री ने कहा : टीम झारखंड बेहतर काम कर रही है. मुख्य सचिव, विकास आयुक्त, आइटी और ई-गवर्नेंस सचिव समेत अन्य विभागों के अधिकारी एक टीम की तरह काम कर रहे हैं. सरकार पेशेवर तरीके से गवर्नेंस लोगों को प्रदान करेगी. राज्य में 9.50 लाख लोगों को डिजिटल शिक्षा दी गयी है. इसमें से 4.50 लाख ऑनलाइन परीक्षा उत्तीर्ण कर चुके हैं. आइटी और इंडिया टैलेंट मिल कर आइटी टूमोरो बना रहे हैं.

जिन योजनाओं का हुआ शुभारंभ 2500 सीटोंवाले नये बीपीओ

प्रधानमंत्री डिजिटल साक्षरता (पीएम दिशा) के तहत 20 हजार युवाओं को प्रशिक्षित करने की योजना 30 ग्रामीण बीपीओ की शुरुआत 30 बीपीओ से जुड़े 5000 युवाओं को दिया गया जॉब इंगेजमेंट लेटर ग्रामीण स्तरीय 11000 उद्यमियों (वीएलइ) का फेसबुक एकाउंट का शुभारंभ 11 स्टार्ट अप उद्यमियों को टेक्सास से सफलतापूर्वक प्रशिक्षण पूरा करने का प्रमाण पत्र वितरण देश भर में झारखंड को सबसे अधिक ग्रामीण बीपीओ खोलने का पहला पुरस्कार वितरण

जिन योजनाओं का हुआ शुभारंभ 2500 सीटोंवाले नये बीपीओ