Yo Diary

झारखंड: खेलो इंडिया गेम्स में धनबाद के आदित्य ने जीता रजत पदक

दिल्ली के इंदिरा गांधी स्टेडियम में चल रहे प्रथम 'खेलो इंडिया स्कूल गेम्स' में धनबाद के आदित्य प्रकाश ने बाधा दौड़ (हर्डल रेस) रजत पदक जीतकर राष्ट्रीय स्तर पर धनबाद का नाम रोशन किया है। बहुत कम समय से आदित्य गोल्ड मेडल से चूक गए। दो दिन पहले इस प्रतियोगिता का उद्घाटन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दिल्ली में किया था। शहर के मनईटांड़ के रहने वाले आदित्य प्रकाश का चयन खेलो इंडिया स्कूल गेम्स के लिए किया गया था। वह धनबाद के एकमात्र और झारखंड से चुने गए छह खिलाड़ियों में शामिल हैं। खेलो इंडिया' का आयोजन 31 जनवरी से 8 फरवरी तक राष्ट्रीय राजधानी में किया गया है। आदित्य ने अंडर-17 वर्ग के 110 मीटर हर्डल रेस में रजत पदक जीता।

नेशनल टूर्नामेंट के आधार पर खेलो इंडिया में चयन

आदित्य प्रकाश का खेलो इंडिया स्कूल गेम्स में चयन पिछले प्रदर्शन को देखर किया गया। नवंबर-दिसंबर में आयोजित एसजीएसएफआइ स्कूल गेम्स, जूनियर नेशनल एथलेटिक्स और अंतर जिला राष्ट्रीय एथलेटिक्स में आदित्य ने गोल्ड मेडल जीता था। इसी आधार पर आदित्य का चयन किया गया था।

पिता नहीं चाहते थे बेटा बने एथलीट

आदित्य के पिता मुसो यादव एफसीआइकर्मी हैं। चार साल पहले जब आदित्य एथलेटिक्स में जाना चाहता था तो उसके पिता इसके खिलाफ थे। अब बेटे ने राष्ट्रीय स्तर पर मेडल जीतकर पूरे परिवार का नाम रौशन किया है। इस उपलब्धि पर जिला ओलंपिक संघ के रंजीत केशरी, कोच कुणाल कुमार, गौरी शंकर, आईआईटी धनबाद के स्पोर्ट्स इंचार्ज डीएन आचार्या, राजकमल प्राचार्य डा. राजेश कुमार सिंह ने बधाई दी है।

क्या है खेलो इंडिया कार्यक्रम

'खेलो इंडिया स्कूल गेम्स' में युवा खेल प्रतिभाओं की पहचान करेगा और उन्हें भविष्य के चैम्पियन के रूप में विकसित करने में सहायता प्रदान करेगा। एक उच्च स्तरीय समिति युवा खेल प्रतिभाओं की पहचान करेगी और उन्हें आठ सालों तक पांच लाख रुपये प्रतिवर्ष की आर्थिक सहायता दी जाएगी.

क्या है खेलो इंडिया कार्यक्रम