Yo Diary

CM रघुवर दास ने कहा- 2022 तक झारखंड को पावर हब बनाना है

रांची।मुख्यमंत्री रघुवर दास ने केंद्र प्रयोजित सौभाग्य योजना का शुभारंभ रविवार को प्रोजेक्ट भवन स्थित सभागार में किया। इसके साथ ही मुख्यमंत्री ने झारखंड के छूटे 2525 गांवों के विद्युतीकरण कार्य पूर्ण होने की घोषणा करते हुए कहा कि अब झारखंड देश का 18 वां राज्य बन गया, जहां शत प्रतिशत गांवों में बिजली पहुंच गई। 2022 तक झारखंड को पावर हब बनाना है। मुख्यमंत्री ने बिजली अफसरों को निर्देश देते हुए कहा कि दीपावली तक हर हाल में कैंप लगाकर उपभोक्ताओं को बिजली कनेक्शन दे दें। ताकि अगले दीपावली तक सभी घर जगमग हो जाएं।

'बिजली से रौशन होने के बाद क्षेत्र भगवा कलर में नजर आता'

मुख्यमंत्री ने घोषणा करते हुए कहा कि ग्रामीण क्षेत्र के बीपीएल परिवार को नि:शुल्क और एपीएल परिवार को 500 रुपए में बिजली कनेक्शन मिलेगा। वे यह राशि एक मुश्त नहीं बल्कि 50 रुपए महीने के हिसाब से चुकता कर सकेंगे। मुख्यमंत्री ने कहा कि झारखंड हरित क्रांति एवं श्वेत क्रांति की ओर बढ़ चला है। अब आने वाला वर्ष 2018 भगवा क्रांति का वर्ष होगा। सीएम ने इसका अर्थ गलत न लगाने की सलाह देेते हुए कहा कि बिजली से रौशन होने के बाद क्षेत्र भगवा कलर में नजर आता है। इसलिए इसका नाम 'भगवा' क्रांति दिया जा रहा है।

ग्रामीण अपनी खाली जमीन पर सोलर फार्मिंग को बढ़ावा दें

मुख्यमंत्री ने कहा कि 2018 तक चौबीस घंटे बिजली देने के सपने को साकार करने की दिशा में कदम बढ़ चुके हैं। इस दिशा में भी काम शुरू हो चुका हैं। यह दुर्भाग्य है कि बीते 70 वर्ष में बिजली की दिशा में कोई काम नहीं हुआ। कोयला हमारा और हम बिजली दूसरों से खरीदें। इसके लिए वैल्यू एडेड प्लांट लगाने की जरूरत है। मुख्यमंत्री ने ग्रामीणों को सलाह देते हुए कहा कि वे अपनी खाली जमीन पर सोलर फार्मिंग को बढ़ावा दें। सोलर बिजली उत्पादन करें, जितनी जरूरत हो, उतनी करें और बाकी बिजली ग्रीड को दें, जिसका पैसा बिजली विभाग देगा। इससे किसानों की आय दुगुनी हो सकती है। इसमें सरकार 50 प्रतिशत की सब्सिडी भी देगी।